Dec २२, २०२० ११:५४ Asia/Kolkata
  • आज़रबाइजान के ख़िलाफ़ युद्ध में हार स्वीकार करने वाले आर्मेनिया के प्रधानमंत्री को पादरी ने चर्च से निकाल दिया

नागोर्नो-काराबाख़ युद्ध में आज़रबाइजान के मुक़ाबले में आर्मेनिया की बड़ी हार से नाराज़ एक पादरी ने देश के प्रधान मंत्री निकोल पाशिनयान को चर्च से निकाल दिया।

टीआरटी की रिपोर्ट के मुताबिक़, आर्मेनिया के प्रधान मंत्री निकोल पाशिनयान हालिया नागोर्नो-काराबाख़ युद्ध में मारे गए सैनिकों को श्रद्धांजली देने के लिए आयोजित एक शोक सभा में भाग लेने चर्च गए थे, लेकिन उन्हें वहां कड़ी प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ा।

रिपोर्ट के मुताबिक़, पादरी ने पाशिनयान के हाथ को झटक दिया और उन्हें वहां से जाने के लिए चर्च के दरवाज़े की ओर इशारा किया।

काराबाख़ में मिली बड़ी हार के बाद आर्मेनिया के प्रधान मंत्री पहली बार लोगों के बीच गए थे।

इस युद्ध को समाप्त हुए 40 दिन बीत गए हैं, इस अवसर पर देश में 19 दिसम्बर से 3 दिन के लिए सार्वजनिक शोक की घोषणा की गई थी और एक चर्च में युद्ध में मारे गए सैनिकों को श्रद्धांजली देने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

आर्मेनिया का कहना है कि युद्ध में इसके 2,000 से ज़्यादा सैनिक मारे गए हैं और कई अभी तक लापता हैं।

युद्ध में हार स्वीकार करने के बाद से ही पाशिनयान सरकार के ख़िलाफ़ देश में प्रदर्शन हो रहे हैं। रविवार को राजधानी येरेवान में एक विशाल रैली का आयोजन किया गया, जिसमें प्रदर्शनकारियों ने प्रधान मंत्री से इस्तीफ़ा देने की बात दोहराई। msm

 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स