Jan २०, २०२१ ११:१५ Asia/Kolkata
  • अमरीकी सांसद ने ट्रम्प और पोम्पियो को दिखाया आईना, प्रतिबंधों की वजह से हज़ारों ईरानी मरे जबकि ईरान को शक्तिशाली बनने से नहीं रोक सके ...

अमरीकी प्रतिनिधि सभा की एक सदस्य ने ट्वीट कर कहा कि ट्रम्प और उनके विदेशमंत्री के प्रतिबंधों की वजह से कोरोना महामारी से हज़ारों ईरानियों की मौत हुई।

फ़ार्स न्यूज़ एजेन्सी की रिपोर्ट के अनुसार अमरीकी प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट सदस्य इल्हान उमर ने अपने ट्वीट्स में ट्रम्प प्रशासन की कार्यवाहियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने अपने एक ट्वीट में अमरीका के 45वें राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प और उनके विदेशमंत्री माइक पोम्पियो के कार्यकाल के अंत की ओर इशारा किया।

उन्होंने अमरीकी विदेशमंत्री माइक पोम्पियो की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि यह आदमी एक शैतान है, हमको उन लाखों लोगों को नहीं भूलना चाहिए जो दर्द से कराह रहे थे।

इल्हान उमर ने अपने ट्वीट में कहा कि माइक पोम्पियो ने ईरान पर कमर तोड़ प्रतिबंध लगाने के लिए लॉबिंग की और कोरोना महामारी के काल में ईरान को उसकी आवश्यकता की बहुत से दवाओं से वंचित कर दिया जिसकी वजह से हज़ारों लोगों की मौत हुई।

उनका कहना था कि वर्तमान समय में ईरान के पास क़ानूनी मात्रा से 12 गुना अधिक संवर्धित यूरेनियम है और ईरान सरकार हमेशा से ही शक्तिशाली रही है।

अमरीकी प्रतिनिधि सभा की सदस्य ने कहा कि ट्रम्प प्रशासन ने 290 अरब डॉलर के हथियार सऊदी अरब को बेचे, यह वही शासन है जो निरंतर मानवाधिकारों के रक्षकों और राजनैतिक सुधार की मांग करने वालों को जेल में डाल रही है और उनका जनसंहार कर रही है।

इल्हान उमर ने ट्रम्प के विदेशमंत्री की उपलब्धियों को गिनवाते हुए कहा कि सऊदी अरब ने यमन के विरुद्ध युद्ध में हज़ारों लोगों का जनसंहार किया, उन पर बमबारी की, उनका परिवेष्टन किया और उनको भूखा मरने पर मजबूर किया। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स