Mar २८, २०२१ १६:१८ Asia/Kolkata
  • जब दूसरों पर पाबंदियां लगाने वाले पर पाबंदी लगी तो वह कैसा तिलमिलाया?

अमरीकी विदेशमंत्री ने चीन द्वारा अमरीका के अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर धार्मिक अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता आयोग के दो सदस्यों के प्रतिबंध को निराधार बताया है।

अमरीकी विदेशमंत्री एंटनी ब्लिंकन ने एक बयान जारी करके चेतावनी दी है कि वीगर मुसलमानों के बारे में बीजिंग के व्यवहार को लेकर चीन की ओर से दो अमरीकियों पर प्रतिबंध निरधार है और यह काम, शिनकियांग में जातीय सफ़ाए के समर्थन के अर्थ में है। इस बयान में ब्लिंकन ने कहा है कि मानवाधिकारों तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बारे में बात करने वाले लोगों को शांत करने और डराने-धमकाने के लिए बीजिंग के प्रयासों से शिनकियांग में जातीय सफाए और मानवाधिकारों के उल्लंघन के उजागर होने में सहायक हैं।

 

अमरीकी विदेशमंत्री का यह बयान ऐसी स्थिति में आया है कि जब चीन ने वीगर मुसलमानों के संबन्ध में उस पर अमरीका और कनाडा द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों की प्रतिक्रिया में दो अमरीकियों, एक कैनेडियन और वहां के एक मानवाधिकार संगठन को प्रतिबंधित कर दिया है। यूरोपीय संघ, ब्रिटेन, कनाडा और अमरीका ने संयुक्त कार्यवाही के अन्तर्गत शिनकियांग के कुछ अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसी पर प्रतिक्रिया देते हुए चीन ने भी यूरोपीय संघ और ब्रिटेन के कुछ लोगों पर प्रतिबंध लगा दिया। मानवाधिकार संगठनों का दावा है कि चीन ने लगभग दस लाख वीगर मुसलमानों को पिछले कुछ वर्षों के दौरान डिटेंशन कैम्पों में बंद कर रखा है।

 

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स